Tag Archives: Life

बिन खवाब क्या जीना

ये भी कोई जीना है। ये जीना क्या जीना है ये भी कोई जीना है हर पल सांसे गिनना है हर सांस में आंसू पीना है ये भी कोई जीना है। खोये खवाबों में है लेकिन क्या खवाबों का हमको … Continue reading

Share
Posted in जीवन तरंग, दुःख, श्रृंगार/प्रेम | Tagged , , , , | 2 Comments

ऐ दोस्त…तुम ऐसे तो न थे

क्या हुआ? ऐ  दोस्त… जब से तुमको जाना है, तुम ऐसे न थे । यूँ कैसे बिखर गए, तुम ऐसे न थे । देखा गम से हमेशा दूर, तुम ऐसे न थे । चेहरे पर भोलापन आँखों में चंचलता न … Continue reading

Share
Posted in जीवन तरंग, दुःख | Tagged , , , , | 2 Comments

चलन ज़िन्दगी का

पहिया बताता है चलन ज़िन्दगी का गड्ढों भरी कंकड़ी, पथरीली, साधारण और शानदार ऊंची नीची मखमली घाटियाँ फूलों से भरी सीखता है तमन्नाओं पर काबू करना न बहकना न थिरकना न ही धधकना चड़ता है कोमल राहों पर और टूटे … Continue reading

Share
Posted in जीवन तरंग | Tagged , , , , , , | 9 Comments